सेलेब्स ने भारत में TikTok प्रतिबंध के फैसले का समर्थन किया, कहा- कृपया इस वायरस को कभी अनुमति न दें

0
6

नई दिल्ली: चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच एक बड़ा फैसला लिया गया है। भारत में 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। भारत सरकार ने TikTok, UC Browser और Shareit सहित 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। निया शर्मा, कुशाल टंडन, काम्या पंजाबी और मनवीर गुर्जर सहित कई टीवी सेलेब्स ने चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के कदम की प्रशंसा की है। इसी समय, TikTok वीडियो में सामग्री की गुणवत्ता पर एक बहस चल रही है। इसके साथ ही माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर हैशटैग #TikTok ट्रेंड कर रहा है।

लोकप्रिय टीवी धारावाहिक in नागिन 4 ’की लोकप्रिय अभिनेत्री निया शर्मा उर्फ ​​बृंदा का कहना है कि अब टिकटोक को भारत वापस आने की अनुमति नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने ट्वीट किया, “हमारे देश को बचाने के लिए धन्यवाद, टिक टॉक नामक इस वायरस को फिर कभी अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।”

‘बिग बॉस 10’ के विजेता मनवीर गुर्जर ने अपने ट्वीट में टिक्टर्स पर ट्वीट करते हुए लिखा, “कैरी मिनाती का यूट्यूब बनाम टिकटोक वीडियो कौन भूल सकता है?”

अभिनेता कुशाल टंडन और ti शक्ति-अस्तित्व की कहानी ’की अभिनेत्री काम्या पंजाबी ने भी ऐप पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के फैसले की प्रशंसा की है।

म्यूजिक कंपोजर विशाल डडलानी ने ट्वीट करके सरकार को चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाने की सराहना की, जिसमें टिकटकॉक भी शामिल है।

चीनी ऐप की एक सूची भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से तैयार की गई थी और केंद्र सरकार से अपील की गई थी कि उन्हें प्रतिबंधित कर दिया जाए या लोगों से कहा जाए कि वे उन्हें अपने मोबाइल से तुरंत हटा दें। इसके पीछे तर्क यह था कि चीन भारतीय डेटा को हैक कर सकता है। भारत में प्रतिबंधित 59 चीनी ऐप में हैलो, लाइक, कैम स्कैनर, शीन क्वाई, Baidu मैप, केवाई, डीयू बैटरी स्कैनर शामिल हैं। बता दें कि सरकार ने आईटी अधिनियम 2000 के तहत इन चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here